मार्गदर्शन के अभाव में उत्तर-पूर्वी राज्यों के युवाओं का पलायन

हमारे देश में कहीं एक और दूसरा देश बसता है, जिसमें चीनी संस्कृति की झलक, भारतीयता से लबरेज, बदला-बदला सा खानपान का अहसास कराता है। कुदरती खूबसूरती के बीच नदी में लिपटा दुनिया का सबसे लंबा द्वीप, पहाड़ियों पर सर्पीले रास्ते, दुनिया का सबसे नम स्थान, चाय के बाग इसमें और चार चांद लगा देते…

इंटरनेट पर मौजूद मनरेगा का सच

सूचना शिक्षित व अशिक्षित, दोनों को संबल देती है। कई लोगों के लिए इंटरनेट सूचनाओं का सबसे बड़ा कूड़ाघर है। फिर भी कई लोगों के लिए यह कूड़ाघर सशक्तीकरण का स्रोत है। सरकारी गलियारों में सूचना व इंटरनेट एक-दूसरे से अनभिज्ञ होने का खेल खेलते हैं, जो असत्य-सा लगता है। वहीं, आरटीआई के तहत अपनी…

अब गांव की मिट्टी में भी घुलेंगे अंग्रेजी के ‘बोल’

यूं तो अकसर छोटे शहरों और गांवों में अंग्रेजी को लोग नजरंदाज कर देते हैं, जिसकी वजह से वह न शुद्ध अंग्रेजी बोल सकते हैं न वो लिख सकते हैं। आधुनिक भारत में अहम मौकों से महरूम होने की ये भी एक अहम वजह है। आज हमारे समाज में विशेष शैक्षिक संस्थानों तक किसी शख्स…

चुनाव के बहाने ही सही, नई तकनीक से रूबरू हो रहे हैं गांववाले

जहां देश भर में लोकसभा चुनाव की सर्गरमी तेज है, वहीं दूसरी तरफ घोषणाओं और वादों का पिटारा भी खुल चुका है।  लेकिन, हर बार की तरह इस बार भी किसी में विकास की कोई छटपटाहट नहीं है। अगर, इस चुनाव में कुछ नया है तो वो है सूचना और तकनीक का भरपूर इस्तेमाल। 9…